Hindi 2015-16 STF KOER workshops

From Karnataka Open Educational Resources
Revision as of 15:52, 17 May 2017 by KOER admin (talk | contribs) (Text replacement - "</mm>" to "")
(diff) ← Older revision | Latest revision (diff) | Newer revision → (diff)
Jump to: navigation, search

Click here for District cascade Hindi workshop

Contents

हिन्दी एसटीएफ एमआरपी कार्यशाला STF MRP Workshop

उद्देश्य Aims

  1. हिन्दी भाषा शिक्षण और अन्य व्यावसायिक और व्यक्तिगत आवश्यकताओं के लिए एक संसाधन के भंडार के रूप में इंटरनेट को समझें Understand the Internet as a resource repository for Hindi language teaching and other professional and personal needs
  2. संसाधनों का उपयोग और हिंदी भाषा शिक्षण के बारे में चर्चा भारतीय / कर्नाटक संदर्भ (बहुभाषी, दूसरी भाषा) Access resources and discuss about Hindi language teaching in Indian / Karnataka context (multi-lingual, second language)
  3. भाषा शिक्षण सीखने के लिए विभिन्न डिजिटल तरीके और कनेक्शन जानें Learn different digital methods and connection to language teaching learning
  4. OER, विभिन्न डिजिटल तरीके (पाठ, छवि, ऑडियो और वीडियो संसाधन) का उपयोग करते हुए हिंदी पाठ्य पुस्तक में उच्च विद्यालय के अध्यायों के लिए विशेष रूप से बनाना Creating OERs using various digital methods (text, image, audio and video resources), including specifically for high school chapters in the Hindi text book
  5. Connecting to peers for sharing and learning - virtual forums

कार्यसूची Agenda

  1. See Sheet 'Agenda' for Agenda of workshop
  2. MRP List for हिन्दी
  3. में दस जिलों में इस वर्ष शामिल किया जाएगा , और बेंगलुरू और धारवाड़ में 2 एमआरपी कार्यशालाओं प्रति जिले (औसत) 5 प्रशिक्षित करेंगे Ten districts will be covered this year, and 2 MRP workshops in Bengaluru and Dharwad will train 5 MRPs per district (average), as follows-
    1. बेंगलुरू - बेंगलुरू शहरी, चित्रदुर्ग, चिकबलपुर, दक्षिण कन्नड़ और उडुपी धारवाड़ - बेंगलूरु ग्रामी-चित्रदुर्गा, धारवाड़, रायचूर,कोप्पल और यादगीर Bengaluru - Bengaluru Urban, Chitradurga, Chikkaballapur, Dakshina Kannada and Udupi. Dharwad - Belgavi – Chikkodi, Dharwad,Raichur, Koppal and Yadgir

हिन्दी एसटीएफ एमआरपी कार्यशाला संसाधन और हैंडआउट्स STF MRP Workshop Resources and Handouts

संसाधन और हैंडआउट्स Resources and handouts

कार्यसूची Draft Agenda for the MRP workshop and the district workshop

[maximize]

हिन्दी में संसाधन Resources in Hindi

  1. कक्षा 8 के लिए हिंदी मूलभूत सीखने / सेतुबंघ Hindi foundational learning / bridge course for class 8
  2. हिन्दी उपयोगी वेबसाइटों] Hindi Useful websites
  3. Hindi language and learning, भाषा शिक्षक और भाषा शिक्षण
  4. हिंदी शिक्षण का उद्देश्य, aims of Hindi teaching]
  5. हिंदी ऑडियो विजुअल संसाधनों
  6. Hindi transaction, कक्षा आठ से दस पाठ्यक्रम
  7. सभा के लिए हिंदी गीतHindi songs for assembly
  8. मुद्रण और साझा करने के लिए पीडीएफ में हिंदी में सार्वजनिक- सॉफ्टवेयर - पोस्टर Public-Software-Posters in Hindi in PDF, for printing and sharing

अंग्रेजी में संसाधन Resources in English

भाषा सीखना Language learning

  1. The_Child's_Language_and_the_Teacher,Prof._Krishna_Kumar- Mindmap on language learning, from a book by Prof Krishna Kumar. Please visit!!
  2. Articles on language learning and linguistics by Prof Ramakant Agnihotri, Retd DU

Technology learning

  1. For Hindi Typing using different KEYBOARD LAYOUTS
  2. Accessing_Internet]
  3. Internet – a new method of learning
  4. Note_on_Internet_access
  5. Emailing Handout
  6. How to create a Personal Digital Library
  7. Freemind Handout
  8. Ubuntu
  9. Learn typing with all your 10 fingers
  10. Kannada typing
  11. Download Using a text editor
  12. GIMP Manual
  13. Brief History of ICTs and How have digital ICTs impacted society
  14. Some use full applications for Android phones
  15. Ubuntu Installation

कन्नड में संसाधन Resources in Kannada

  1. Note_on_Internet_access
  2. ಬೇಸಿಕ್_Ubuntu_ಕೈಪಿಡಿ
  3. ಪಠ್ಯ ಸಂಪಾದನೆ ಬಗೆಗಿನ ಸಾಹಿತ್ಯ
  4. ಬೇಸಿಕ್ Libre office ಮತ್ತು ಕನ್ನಡ ಟೈಪಿಂಗ್ ಕೈಪಿಡಿ ಡೌನ್ ಲೊಡ್ ಮಾಡಲುಇಲ್ಲಿ ಒತ್ತಿ
  5. E-mail ಕೈಪಿಡಿಗಾಗಿ ಇಲ್ಲಿ ಒತ್ತಿ
  6. ವಿದ್ಯನ್ಮಾನ ವೈಯುಕ್ತಿಕ ಸಂಪನ್ಮೂಲ
  7. ಕನ್ನಡದಲ್ಲಿ GIMP ಕೈಪಿಡಿ ಡೌನ್ ಲೊಡ್ ಮಾಡಲುಇಲ್ಲಿ ಒತ್ತಿ
  8. ಕೊಯರ್_ಹಿನ್ನೆಲೆ_ಟಪ್ಪಣಿ
  9. ಗೂಗಲ್ ಮ್ಯಾಪ್, ಟ್ರಾನ್ಸಲೇಟ್ ಬಳಕೆಯ ಕೈಪಿಡಿ
  10. ಕನ್ನಡದ ಐಟ್ರಾನ್ಸ

हिन्दी एसटीएफ एमआरपी कार्यशाला 1 - बेंगलुरू STF MRP Workshop 1 - Bengaluru

कार्यशाला में हमें देखें See us at the Workshop

Album

कार्यशाला रिपोर्टें और संसाधन Workshop Reports and Resources

1st Day
हिंदी शिक्षकों का मंच - संसाधक कार्याशाला अगस्त- २०१५
स्थान : डयट राजराजेश्वरी नगर , बेंगलूरु |
दिनांक : २४-०८-२०१५
टोली : चिक्कबल्लापुर जिल्ला
प्रस्तावना
आज का युग तकनीक का युग है | जीवन के तकरीबन हर क्षॆत्र में तकनीक का उपयोग हो रहा है |उसी प्रकार शिक्षा प्रणाली में भी तकनीक का उपयोग होना आवश्यक है | इस आशय को पाने के लिए एस् . टि . एफ् . प्रशिक्षण द्वारा संसाधक शिक्षकों को प्रशिक्षण देकर पाठशाला की कक्षाओंं तक तकनीक को पहुँचाने का भरपूर प्रयत्न इस प्रशिक्षण से हो रहा है |

पहले दिन के कार्यकलाप का विवरण
1. कार्यक्रम का उदघाटन  :
डी.एस्.ई.आर.टी. से एस. आई. डी.पी. श्रीमान मंजुनाथ जी ने इस प्रशिक्षण का उदघाटन किया और प्रशिक्षण के बारे में अपने विचार प्रस्तुत किए |

2. कार्यक्रम का आशय
प्रशिक्षण के मुख्य संसाधक श्रीमान गुरुमूर्ति जी ने प्रशिक्षण का आशय एवं अंतर्जाल से उचित तौर पर मिलनेवाली जानकारी, सेवाएं तंत्रांशों का उपयोग करके कक्षा में कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं, आदि विषयों के बारे में बताया |

3. भाषा शिक्षकों के लिए भाषा शिक्षण
व्याली स्कूल आफ् इंग्लीश् से संसाधिका श्रीमती मीनल जी ने भाषा, भाषा शिक्षण, भाषा शिक्षण की प्रणालियाँ, कक्षा में भाषा की उपयोगिता और अपने अध्यापन के अनुभवों को हम सब को बताते हुए बहुत ही रोचक रूप से विषय को समझाया|
4. हिंदी टाइपिंग
संसाधक श्रीमान राकेश जी ने लिब्रे आफीस का परिचय इसका उपयोग इसके कार्य तथा हिंदी टाइपिंग के तरीकों के बारे में तथा सभी प्रशिक्षणार्थियों को इसका अभ्यास भी करवाया| 5. अभ्यास के हेतु मार्गदर्शन
प्रशिक्षणार्थियों को अभ्यास करवाने के लिए समय समय पर प्रशिक्षण के मुख्य संसाधक श्रीमान गुरुमूर्ति जी , संसाधक श्रीमान राकेश जी संसाधक श्रीमान नंदीश जी आदि संसाधकों नें अपना भरपूर सहयोग दिया है |

6. निष्कर्ष
अतः हम यह कह सकते हैं कि पहले दिन के कार्यकलाप के तहत बहुत सारी नई चीजों को सीखा और अगले दिन के कार्यकलाप में हम अभ्यास करना चाहते हैं | पहले दिन के कार्यकलाप की दिनचर्या प्रस्तुत करने के लिए अवसर दिए संसाधकों को हमारा धन्यवाद |

3rd Day
तीसरे दिन का प्रतिवेदन
सुबह ठीक् १० बजे हम नंदीश् जी से ई-मेल कैसे भेजा जा सकता है इसको सीखा |जी-मेल ओपन कैसे किया जाता है इसको भी सिखाया गया | टूल- बारों के रंग किसके प्रति हैं इसकी जानकारी हमें दी गयी | राकेश जी ने हमें कोई संदेश एस टी एफ ग्रूप को भेजने का तरीका सिखाया | कार्बन कापी, ब्लाइंड कार्बन कापी के बारे में अधिक जानकारी दी | दोपहर के खाने के बाद श्रीमती नायमा उरूज जी ने हमें टेस इंडिया के बारे में जैसे-उसके उद्देश्य्,रूप रेखा,विभिन्न साइट्स आदि कि भरपूर जानकारी दी और इसीके साथ हमारे तीसरे दिन की कार्यशाला शाम ६ बजे समाप्त हो गई |
मोती सागर की अनमॊल चीज़ है,
किला दुर्ग की अनमॊल चीज़ है,
तीसरे दिन का प्रतिवेदन् शिबिरार्थियों की देन है |
4th Day

हिन्दी एस्.टी.एफ् प्रशिक्षा के चौते दिन का वरदि वाचन

इस दिन के प्रशिक्षण को श्री राकेश सर् जी ने शुभ नमस्कार के साथ कक्षा को श्री गणेश किये| सर् जी ने Book mark, Sercha option, Wi-Fi connection, Pendrive remove, Tool bar पर Icon को बिठाना और निकालने (Remove) के बारे में समझाए| और उसीके साथ बहुत सारे Images को एक ही समय पर बच्छों को बताने के लिए किस तरह Screen shot को निकालना चाहिए, और उसको किस तरह .png, .jpg, .jpeg, .gaf इन् "इक्सटेनषनों" को फैल में बिना निकाले Save करने के बारे बताया गया|
इसी के दिन पर mail create करने के बारे में विस्त्रुत रूप जानकारी दिये और हमारे तरफ से एक प्रायोगिक रूप में भी एक mail create कराए|
दोपेहर के बोजन के उपरांत On line Dictionary के बारे में बताए और उसी में ही कुछ शब्द ढूँढते समय उस् Dictionary में कुछ शब्द गलत दिख़ाई दिये तो, हमें उन शब्दों को किस तरह ठीक कर सकते हैं, इसके बारे विस्त्रुत रूप में जानकारी दिये|

चाय के विराम के बाद श्री वेंकटेश सर् जी edubuntu software install करने के बारे में प्रायोगिक रूप से जानकारी दिये|

अंत में श्री राकेश सर् जी नी कक्षा में पाठ पढाते समय कुछ समस्याओं शिक्षकों के सामने प्रस्तुत हुए तो उन समस्याओं को दूर करने केलिए किस तरह कुछ Mobile Apps को Download करके उन Apps से उन समस्याओं को किस तरह दूर कर सकते है‌, इस के बारे में जानकारी दिये| जैसे Apps:- Hindi khoje, Shabda kosha, Hindi nursery, Hindi grammar, Hindi mohavare, Hindi shaheri, Google translate, Hindi to kannada dictionary, Learning hindi, Hindi story book आदी|

5th Day
हिन्दी STF प्रशिक्षा के पाँचवाँ दिन का प्रतिवेदन
आज् का दिन् शुभ् शुक्रवार क्यों कि देवी वरमहालक्ष्मी की उपासना का दिन् है| सभी प्रशिक्षार्थियों को शुभाशय कहते हुए हम् उडुपि के प्रशिक्षार्थी पाँचवें दिन् के रपट आपके सामने प्रस्तुत् कर रहें हैं| थॊडी-सी ख़ुशी, थोडी-सी उदासी लेकर हम सब लोग् सुबह के ९.३० बजे प्रशिक्षा वर्ग् में उपस्थित हुए | चंद्रकला मेडमजी सभी को मिठाई बाँटे| एक् दूसरे को बधाई देते हुए आज् काप्रशिक्षण श्री राकेश जी से श्रीगणेश हुआ |
उबुन्टु अपलोड करते समय "something else” option cउन् लें तो क्या क्या करना पडता है - इसके बारे में श्री राकेश जी सविस्तार में बताए | प्रशिक्षार्थी अपने शंकाओं का हल भी पाये | पाँच् दिन के रपट और समग्र रपट तैयार करने की जिम्मेदारी अलग अलग DIET को सौंपा गया |
सुबह के ११.३० बजे श्री गुरुमूर्ती जी अपनी कक्षा का आरंभ् किये | हँसी ख़ुशी के साथ स्वशिक्षा और सहशिक्षा का महत्व समझाए‌ | उनका कहना है- “अब सिर्फ् शुरु हुआ है, इसे चालू रखना चाहिए | इसके लिए कोई अंत नहीं है | इन तकनीक के उपयोग से हमारा दिमाग खुल जाता है, और हमारा ज्ञान बढता है |” उनसे सहमत होते हुए हम् सब तंत्रज्ञान् के उपयोग को चालू रख़ने की वादा की | चाय विराम के बाद 'g-talk’के प्रायोगिकता को दिखाने के लिए ग्रामांतर डयट के कन्नड STF प्रशिक्षार्थियों से वीडियो कान्फरेन्स हुआ | इस् वीडियो कान्फरेन्स में सभी शिक्षार्थी उत्सुकतापूर्वक भाग ली | वहाँ से कन्नड में और यहाँ से हिन्दी में संवाद बहुत अच्छे ढंग से हुआ |
दोपहर १.१५ के बाद सभी डयट के प्रशिक्षार्थी से आबंटित पाठ् और् कविता का तंत्रज्ञान की उपयोगिता के साथ् प्रस्तुतीकरण संबंधी सलाह भी दी गयी | इसी बीच् दोपहर के १.४५ को स्वादिष्ट भोजन भी हो गया‌| भोजन के बाद जो प्रस्तुतीकरण बाकी था, उसे भी पूरा किया गया‌| इस वक्त गुरु सर् के ओर् से "audio” पर् ज्यादा जोर् देने की सुझाव मिला |
दोपहर ३.४५ को श्री राकेश जी "technical class” लिये | उसमें "mind map” कैसे करना हैइसके बारे में बताया गया | फिर ४.४५ में श्री गुरुजी द्वारा प्रशिक्षा का स्थूल रूप से याद किया गया | अंत में सभी प्रशिक्षार्थी द्वारा पाँच् दिन की पृष्टापोषण "online” में दिया गया | T.A. ,D.A. का वितरण भी संचालक के द्वारा हो गया |इसके साथ साथ इन पाँच् दिनों का प्रशिक्षण समाप्त हुआ |


कार्यशाला में हमें देखें Bangalore Hindi MRP Workshop overall report
1.png
2.png
3.png


संकल्पना मानचित्र - हिन्दी भाषा शिक्षण की चुनौतियां Concept map - Challenges of Hindi language teaching

[maximize]

संकल्पना मानचित्र - बहुभाषी कक्षा Concept map - Multi-lingual classroom

[maximize]

प्रतिक्रिया Feedback

दिन Day 1

  1. ICT Use form
  2. backup participant information entry
  3. participant information responses view

दिन Day 5

  1. Participant feedback form MUST be filled by ALL participants on Day5. This is a compulsory activity
  2. View Participant feedback analyses

आगे का रास्ता Way forward

  1. Practice your learning - using the computer to create text (LibreOffice Writer), audio (mobile phone, laptop), video resources
  2. Access Internet on your laptop and mobile phone to download dictionaries, translation tools
  3. Prepare the resources for your selected topics
  4. See example of resources on Kannada topics -
    1. http://karnatakaeducation.org.in/KOER/index.php/ಪರಿಸರ_ಸಮತೋಲನ
    2. http://karnatakaeducation.org.in/KOER/index.php/ಕನ್ನಡಿಗರ_ತಾಯಿ
    3. http://karnatakaeducation.org.in/KOER/index.php/ಆದರ್ಶ_ಶಿಕ್ಷಕ_ಸರ್ವೇಪಲ್ಲಿ_ರಾಧಕೃಷ್ಣ
  5. Purchase your personal laptop and smart phone
  6. Buy data card / get Internet connectivity
  7. Install Ubuntu / Edubuntu / Kalpavriksha on my computer
  8. Learn typing with all my fingers
  9. Add my friend teachers to Hindi STF groups
  10. see old STF mails before I became a member
  11. see teachers with own laptops

हिन्दी एसटीएफ एमआरपी कार्यशाला 2 - धारवाड़ STF MRP Workshop 2 - Dharwad

कार्यसूची Agenda

  1. See Sheet 'Dharwad_Agenda' for Agenda of workshop
  2. MRP List for हिन्दी

दिन Day 1

  1. ICT Use form
  2. backup participant information entry
  3. participant information responses view

कार्यशाला में हमें देखें See us at the Workshop

Album

कार्यशाला रिपोर्ट Workshop Reports

1st Day
धारवाड जिला शिक्षण व प्रशिक्षण विभाग धारवाड
हिन्दी संसाधक के 5 दिन की प्रशिक्षण 31-अगस्त-2015 से 4 सितंबर-2015
पहला दिन प्रशिक्षण का वरदी वाचन
सोमवार दिनांक 31 अगस्त 2015 के दिन सुबह ठीक ९ बजकर ३० मिनट को विभिन्न जिला के सारे संसाधक शिक्षक प्रशिक्षणार्थी इस प्रशिक्षण के लिए हाजीर हो गए ।
धारवाड जिला शिक्षण व प्रशिक्षण विभाग के कार्यालय से प्रशिक्षण के संयोजक श्रीमती डवळगी मेडम ने इस प्रशिक्षण के लिए सभी शिक्षकों का स्वागत कर सब को अपना परिचय दिया और सभी शिक्षक प्रशिक्षणार्थीयों का परीचय एक दुसरे से करवाया। बाद में सभी को संसाधक बन कर आये हुए राकेश सर और नन्दीश सर का परिचय करवाया और 5 दिन के प्रशिक्षण के क्रिया कलापों के बारे में जानकारी दिया।
पहले अवधि में संसाधक राकेश सर ने उबन्टु आपरेटिन्ग सिस्टम को हम सब को परीचित कराते हुए उससे होनेवाले लाभ के बारे में जानकारी देते हुए उसको इस्तमाल करने की तरीका सिखाया । और दूसरे अवधि मे हिन्दी लिपि को परिचीत कराते हुए उसको इस्तमाल करने की तरीका सिखाकर हमे इस्तमाल करने की सलाह दीया । और हम सब हिन्दी मे संपादन करना सीख लिया । इसके बाद दोपहर मे खाने के लिए छोड़ दिया और हम सब खाना खाकर फिर प्रशिक्षण के लिए हाजीर हो गए । दोपहर के पहले अवधि मे DSERTसे आये हुए संसाधक नैमा मेडम ने के TESS INDIA द्वारा रचित संसाधनो को हमे परिचीत कराया । और उस संसाधनो की कैसे हम अपने अद्यापन कार्य में इस्तमाल कर सकते है इसके बारे मे बताया । अपने अद्यापन को समृध्द बनाने के लिए कक्षा मे हम कैसे संसाधनों को इस्तमाल कर सकते है इसको नैमा मेडम ने क्रिया कलाप के द्वारा बहुत हि सुन्दर ढंग से बताया । कुछ संसाधन है-भाषा शिक्षण को समृध्द बनाने के,कहानी सुनाना, जानकारी प्राप्त करने के लिए कहना, छात्रों से समाचार पत्र पढवाना,बोलना और सुनना कौशल्य को समृध्द बनाना, जोडी में कार्य,पढने का सही समय,सही व्यक्ति, सहि ढंग, इन सभी संसाधनों के बारे में क्रिया कलाप के द्वारा अच्छी तरीके से समझाया । और सभी शिक्षक इससे अवगत हुए। इस तरह पहले दिन की अवधि समाप्त हुआ इतना सब प्रशिक्षण संपन्न हुआ ।
सुरेश कुरबर
सरकारी आदर्श विद्यालय, कलघटगी
धारवड
2nd Day
जिल्ला शिक्षा और प्रशिक्षिण संस्था. धारवाड
STF संसाधाक प्रशिक्षण
प्रतिवेदन
दिनांक 01.09.201
इस कार्यशाला 9 बजकर् 30 मिनट पर प्रारंभ हुआ | उस समय राकेश सरॅ जी ने पहली अवधि में koer के बारे में विस्त्रुत जानकारी दी | Internet से संबंधित जानकारी देते हुए Internet open होते ही web adress shown as Blue,Green,& Black रंगों में दिख़ाई देता है | ये सभी रंग क्या क्या सूचना देता है ? इसके बारे में अधिक जानकारी दी |
तत्पश्चात title bar, standard bar ,tool bar,tab bar, adres bar के बारे में विस्त्रुत समझाए |Adress link, hiperlink, image link & drop and drag के बा में राकेश सर् जी ने जानकारी दी | सभी प्रशिक्षार्थियों को समूह में बाँटकर विषय से संबंधित क्रियाकलाप और ‌‌internet की सहायता से विषय से संबंधित material को संग्रहित करने का तरीका विस्त्रुत रूप से समझाए |
चाय विराम के बाद दूसरी अवधी प्रारंभ हुई| टेबल और अन्य tools के बारे में विस्त्रुत जाकारी श्री राकेश सर जी ने समझाया |
भोजन विराम के बाद तीसरी अवधि शुरु हुई | इस अवधि में जो राकेश जी जो सिखाए थे उन विषयों पर practical करने मे सभी मग्न थे| चौथी अवधि में श्री नंदीश जी से gmail के बारे में जानकारी हासिल हुआ | massage attaching,signature,लगना आदि विषय के बारे में जानकारी दिए और practice कराए | सभी संसाधाक अपना संदेश hindistf@googlegroup.com web adress को भेज दिए |दुसरे दिन की कर्यशाला समाप्त हुई.
धन्यवाद
3rd Day
हिन्दी संसाधक के ५ दिन की प्रशिक्षण ३१ अगस्त से २०१५ से ४ सितंबर २०१५ तक
तिसरे दिन प्रशिक्षण का विवरण
दिनांक ०२/०९/२०१५ बुधवार के दिन ठीक ९.३० पर सभी प्रशिक्षणार्थी इस प्रशिक्षण के लिए हाजिर हो गये |
श्री गुरुमूर्ति काशिनाथन संसादक ने आर् एम् एस् ए के निर्देशक श्री एम् एन् बेग का परिचय देते हुए अपना सत्र प्रारंभ किया | कक्षा में आनेवाली समस्याओं का हल आधुनिक तंत्रज्ञान से कैसे किया जाता हैं | शिक्षक-छात्रों को सुधार एवं उत्तम बनाने का मार्ग मार्मिक ढंग से सविस्तार बताए, अंतर्जाल का महत्व बताते हुए हिन्दी भाषा सीखना और सिखाना, मुक्त शैक्षणिक संशोधन प्रारुप का परिचय करवाया| उबन्टु एक मुक्त साफ्टवेर का संक्षिप्त परिचय दिया गया | चाय विराम के बाद फिर से गूगल के बारे मे जानकारी संसादक श्री राकेश सर् ने आरंभ किया | बाद मे प्रशिक्षणार्थियों को अभ्यास का अवसर दिया गया | उबन्टु मे अन्य भाषाओं को जोडने की प्रणाली का परिचय किया गया |
खाने के विराम के बाद २००५ एन् सी एफ् शिक्षण से संबंधी विषय जो ८० पन्नो का संक्षिप्त किया गया विषय पर चर्चा व्यापक रूप् से श्री गुरुमूर्र्ति काशिनाथन संसादक के नेतृत्य में प्रशिक्षणार्थियों से कि गई | चाय विराम के बाद संसादक श्री राकेश सर् के व्दारा गूगल में विडियो और तस्वीरो को जोड के दुसरो को भेजने की जानकारी दी गई |५ बजे धारवाड डयट् के प्राचार्यजी ने प्रशिक्षण में आधुनिक त्ंत्रज्ञान को पाठशाला में उपयोग करने का महत्व का प्रस्तुत किया |
संसादक श्री राकेश सर् के व्दारा दिये गये विषय पर अभ्यास कार्य अंत तक चलता रहा ६ बजे तिसरे दिन का कार्य कलाप समाप्त हो गया |
दिनांक : ०३/०९/२०१५
यादगिर प्रशिक्षणार्थीू समूह
4th Day
धारवाड जिला शिक्षण व प्रशिक्षण विभाग धारवाड
हिन्दी संसाधक के ५ दिन की प्रशिक्षण ३१ अगस्त से २०१५ से ४ सितंबर २०१५ तक
चौते दिन प्रशिक्षण का ब्योरा वाचन
दिनांक ०३/०९/२०१५ बुधवार के दिन ठीक ९.३० पर सभी प्रशिक्षणार्थी इस प्रशिक्षण के लिए हाजिर हो गये |
श्री राकेश जि ने स्क्रिनशाट को किस तरह ऊपयोग कर सकते हैं इसका परिचय देते हुए अपना सत्र प्रारंभ किया | पि डी एफ़ फ़ाईल,चित्र को कैसे स्क्रिनशोट में बदला जा सकता है इसके बारे में बतया | फ़िर प्रक्टिस सेशन में प्रशिक्षणार्थी इसमें माहरत हासिल कर पाते हैं | चाय विराम के बाद श्री गुरुमूर्ती सर जी ने बहुभाषा की महत्ता से अपना सत्र प्रारंभ किया | बच्चे अगर बहुभाषा की जानकारी रख सकते हैं तो इससे दूसरी भाषा सिखने में आसनी हो जाति है| ८ वी, ९ वी कक्षा तक भाषा को सिखने पर जोर देने की जरूरत को समझाया |
खाने के विराम के बाद उबन्टू साफ़्टवेयर को कैसे आप अपने क्ंप्यूटर में इन्स्टाल कर सकते हैं इसकी जानकारी को बहुत अच्छी तरह से समझाया| और मैइंड मेप को किस तरह बनाया जाता है 'हैपरलिंंक' को कैसे कर सकते हैं, 'ओ,डि, टी' फ़ैल बनाने की जानकरी को देते हुवे सब प्रशिक्षणार्थी को एक-एक मैंड मेप बनाने के लिये कार्य दिया गया सब प्रशिक्षणार्थी उसे सफ़लता पूर्वक कार्य दिया|
चाय विराम के बाद संसादक श्री गुरु सर् जी ने श्रि रमाकांत अग्निहोत्री जी का जो २१ प्रष्ट का 'पोसिशन पेपर' पर चर्चा, 'एन, सी, एफ़्' के तहत तनाव मुक्त वातावरण में भाषा को कैसे सीख सकते हैं इस पर गहन चर्चा हुई |अंत में ६ बजे चौते दिन का कार्य कलाप समाप्त हो गया |
दिनांक : ०४/०९/२०१५
बेलगाम प्रशिक्षणार्थी समूह
5th Day
धारवाड जिला शिक्षण व प्रशिक्षण विभाग धारवाड
हिन्दी संसाधक के ५ दिन की प्रशिक्षण ३१ अगस्त से २०१५ से ४ सितंबर २०१५ तक

पांचवे दिन प्रशिक्षण का विवरण
दिनांक ०४/०९/२०१५ शुक्रवार के दिन ठीक ९.३० पर सभी प्रशिक्षणार्थी इस प्रशिक्षण के लिए हाजीर हो गये |
राकेश सर ने मोबाइल् के जरिए हम बोधन सामग्री कैसे पा सकते है उसके बारे मे बतायाश्री गुरुमूर्ती काशिनाथन संसादक ने कक्षा में आनेवाले समस्याओं हल आधुनिक तंत्रज्ञान से कैसे किया जाता हैं | शिक्षक-छात्रों को सुधार एवं उत्तम बनाने का मार्ग मार्मिक ढंग से सविस्तार बताए, अंतर्जाल का महत्व बताते हुए हिन्दी भाषा सिखना और सिखाना, मुक्त शैक्षणिक संशोधन प्रारुप का परिचय करवाया| उबन्टु एक मुक्त साफ्टवेर का संक्षिप्त परिचय दिए | चाय विराम के बाद फिर से गूगल के बारे मे संसादक श्री राकेश सर् ने आरंभ की | बाद मे प्रशिक्षणार्थी को अभ्यास का अवसर दिया गया | उबन्टु मे अन्य भाषाओं को जोडने की प्रणाली का परिचय किया |
खाने के विराम के बाद हर जीला के द्वारा एक एक पाअठ का विवरात्मक परिचय दिया बाद मे विषय पर चर्चा व्यापक श्री गुरुमूर्ती काशिनाथन संसादक के नेतृत्य में प्रशिक्षणार्थी से कि गई | चाय विराम के बाद संसादक श्री राकेश सर् के व्दारा गूगल में विडियो और तस्वीरो को जोड के दुसरो को भेजने की जानकारी दी गई |
५ बजे धारवाड डयट् के प्राचार्यजी ने प्रशिक्षणा में आधुनिक त्ंत्रज्ञान को पाठशाला में उपयोग करने का महत्व का प्रस्तुत किया |
संसादक श्री राकेश सर् के व्दारा दिये गये विषय पर अभ्यास कार्य अंत तक चलता रहा ६ बजे पांच दिन का कार्य कलाप समाप्त हो गया |
दिनांक : ०४/०९/२०१५
चिक्कोडी प्रशिक्षणार्थीू समूह

प्रतिक्रिया Feedback

  1. Participant feedback form MUST be filled by ALL participants on Day5. This is a compulsory activity
  2. View Participant feedback analyses प्रतिक्रिया